भारतीय उच्च अध्ययन संस्थान में आपका स्वागत है।

अद्वितीय दार्शनिक-राजनेता प्रोफेसर सर्वपल्ली राधाकृष्णन् तथा देश के प्रथम प्रधानमंत्री पण्डित जवाहरलाल नेहरू की परिकल्पना के अनुसार 6 अक्तूबर, 1964 को रजिस्ट्रेशन आफ सोसायटी एक्ट, 1860 के अंतर्गत ‘भारतीय उच्च अध्ययन संस्थान सोसायटी’ का पंजीकरण हुआ। ठीक चौवन सप्ताह बाद प्रोफेसर राधाकृष्णन् ने राष्ट्रपति निवास में इस संस्थान का विधिवत उद्घाटन किया। संस्थान के ‘मेमोरेडम अव ऐसोसिएशन’ में इसका प्राथमिक उद्देश्य- मानविकी और सामाजिक व प्राकृतिक विज्ञान के क्षेत्रों में ‘अकादमिक शोध के लिए उचित वातावरण उपलब्ध करना’ सामने आया। More . . .

           डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन                 

सूचना एवं घोषणा

सूचना- सभी संबंधित को सूचित किया जाता है कि संस्थान द्वारा मैसर्ज न्यूविजन कमर्शियल एण्ड एस्कॉर्ट सर्विसिस फर्म, मुख्यालय-आशीर्वाद सदन मैहली, शिमला (हि.प्र.) को ब्लैकलिस्ट किया गया है।
आगामी आदेश जारी होने तक संस्थान आगंतुकों के लिए बंद है।